MCB क्या है ? प्रकार | Full Form | वोर्किंग | फायदे – नुकसान

MCB क्या है

MCB क्या है ? यह कितने प्रकार की होती है फ्यूज के उपयोग से ज्यादा अच्छी कैसे है MCB कैसे काम करती है इसके फायदे और नुकसान सब कुछ इस पेज पर है

MCB यह एक इलेक्ट्रिकल सर्किट होता है जो बिजली की पॉवर ज्यादा होने पे या शॉर्ट सर्किट होने पे बन्द हो जाता है जिससे किसी और सामान को हानि ना पहुंचे| MCB का full Form Miniature circuit break है |

MCB क्या है ? समझिये

Miniature circuit break अपने आप काम करने वाला सर्किट होता है जो बिजली के पॉवर के ज्यादा और कम या शॉर्ट सर्किट होने पे अपने आप बंद हो जाता है इससे पहले जब MCB की खोज नहीं हुई थी तब इस काम के लिए फ्यूज(fuse) का उपयोग हुआ करता था मगर फ्यूज (fuse) के साथ कुछ कमिया थी जैसे कि

  • फ्यूज(fuse) बिल्कुल हल्की गतिविधियों को या उतार चड़ाव को नहीं भांप पाता था और उसकी वजह से और बिजली की जो चीजे होती थी उनको हानी पहुंचती थी
  • फ्यूज(fuse) के साथ एक कमी और थी कि अगर कभी भी बिजली के द्वारा कोई भी शॉर्ट सर्किट या ओवर लोडिंग होती थी तो वह सीधे फुक जाता था या खराब हो जाता था

वहीं MCB के साथ ऐसा होता है तो उसकी जो मुख्य चाबी होती है वह अपने आप बंद हो जाती मगर उससे एमसीबी(MCB) को कोई हानी नहीं पहुंचती उस चाबी को फिरसे ऊपर करने पे या चालू करने पे करंट (Current) का जो सपलाई होता है वह अपने आप चालू हो जाता है

MCB से एक फायदा और है कि उसको अपने हाथो से चालू बंद किया जा सकता है जिससे के जब अपन को पॉवर नहीं चाहिए तो किसी भी सर्किट (circuit) मै कऱट नहीं आता क्युकी वह सीधे मुख्य पॉवर से जुड़ा होता है और पॉवर के द्वारा आने वाली करंट (Current) की लाइन को बंद कर देता है
वैसे तो MCB फ्यूज(Fuse) से महंगी होती है मगर MCB आसानी से खराब नहीं होती |

MCB वोर्किंग | Working of Mcb

एमसीबी(MCB) में मुख्य दो प्रकार की गति विधि होती है। जिसकी वजह से सर्किट ब्रेक होता है ।

  1. अतिभार प्रभाव अती करंट हन (overload)
  2. विद्युत चुम्बकीय प्रभाव (electromagnetic effect)

Overload effect- अतिभार प्रभाव में द्विधातु पट्टी (bimetallic strip) से जब लगा तार हद से ज्यादा करंट बहता है वो भी एक लंबे समय तक तो बहुत ज्यादा तपिश के कारण द्विधातु पट्टी(bimetallic strip) अपने आप मुड जाती है इसके मुड़ने से यांत्रिक कुण्डी ढीली हो जाती है जो के ऑपरेटिंग तंत्र से जुड़ी होती है वह सर्किट को खोल देता है और जो सीधा करेंट एमसीबी से होता हुआ जा रहा होता है वह बंद हो जाता है और इस पूरी प्रक्रिया को हम ओवरलोड इफेक्ट के नाम से जानते है ।

शॉर्ट सर्किट – शॉर्ट सर्किट के समय एक दम से करंट अपनी चरम सीमा पर आता है जिसकी वजह से पनडुब्बी में विद्युत चुम्बकीय प्रभाव (electromagnetic effect) आजाता है और वह अपनी जगह से हिल जाता है वहीं पनडुब्बी परिनालिता और ट्रिपिंग कोयल एमसीबी से जुड़ा होता है और जो पनडुब्बी होती है वह एक दम से बहुत तेज हिलती है जिसकी वजह से कुण्डी। एकदम से खुल जाती है और जो करेंट आ रहा होता है वह आना बंद हो जाता है और सर्किट बंद हो जाता है। इस पूरी प्रक्रिया को हम शॉर्ट सर्किट के नाम से जानते है।

Tripping- एक दम से आने वाले उतार चड़व को ट्रिपिंग कहते है।

एमसीबी के प्रकार ( Type of MCB )

एमसीबी तीन प्रकार के होते है जो कि उस पर आने वाले उतार चड़ाव पर आधारित होते है।

  • B टाइप का
  • C टाइप का
  • D टाइप का

B टाइप के एमसीबी में अगर करंट 20 से 30 की दर से गुजर जाता है तो वह बंद हो जाती है। यह B टाइप एमसीबी घरों में उपयोग होती है।

C टाइप की एमसीबी में अगर करंट 50 से 100 की दर से निकलेगा तो वह बंद हो जाएगा इस प्रकार की एमसीबी घरेलू और इंडस्ट्रियल दोनों में उपयोग आती है।

D टाइप की एमसीबी में अगर करंट 100 से 200 की दर बहेगा तो वह बंद हो जाएगा यह प्रकार की एमसीबी सिर्फ इंडस्ट्रियल उपयोग में आती है जैसे x-ray machine, welding machine, और अन्य इंडस्ट्रियल उपयोग जिसमें भारी मात्रा में बिजली का उपयोग होता है।

MCB के फायदे-नुकसान

MCB के फायदे

1)एमसीबी आसानी से पता चल जाता है कि फॉल्ट (fault) किस जगह पे हुआ है या किस क्षेत्र में हुआ है
2)एमसीबी आसानी से चालू किया जा सकता है
3) बिजली के संभंध में ज्यादा सुरक्षित होता है
4) फ्यूज(fuse) से ज्यादा जल्दी बिजली की जनजनहट पकड़ लेता है
5) एमसीबी को ठीक कराने में बहुत कम खर्चे होते है |

MCB के नुकसान

1) MCB फ्यूज से ज्यादा महेंगा होता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.