Radioactivity

नाभकीय संलयन क्या है? उदाहरण और नियम

नाभकीय संलयन जब दो हल्के नाभिक एक होकर एक भारी नाभिक का निर्माण है इस अभिक्रिया को  नाभकीय संलयन कहते है द्रव्यमान का जो हानि होता है वह E=mc² से ऊर्जा में बदल जाती है हल्के यानि हल्के नाभिक हाइड्रोजन के होते है और बनने वाला भारी नाभिक हेलियम का होता है विस्तार में नीचे समझें …

नाभकीय संलयन क्या है? उदाहरण और नियम Read More »

सोलर रेडिएशन क्या है

सोलर रेडिएशन सूर्य से आने वाले प्रकाश को ही सोलर रेडिएशन कहते है यह सूर्य के अन्दर होने वाली संलयन अभिक्रिया से उत्पन्न होती है जिस में Helium की क्रिया Hydrogen से होती है जब एक बहुत बड़ा विस्फोट होता है उसमे से बहुत अधिक मात्रा में उष्मा निकलती है जिसे हम सोलर रेडिएशन या विद्युत चुम्बकीय रेडिएशन कहते है यह अभिक्रिया सूर्य के अन्दर …

सोलर रेडिएशन क्या है Read More »

नाभिकीय विखण्डन क्या है?अभिक्रिया,उपयोग

Nuclear Fission या नाभिकीय विखण्डन जिसमे एक भारी नाभिक को neutrons से Bombard करके दो अलग nucleus में विभाजित करते है जिससे बहुत ऊर्जा मुक्त होती है इसी प्रक्रिया को Nuclear Fission या नाभिकीय विखण्डन कहते है या हम आसानी से कह सकते है की भारी या बड़े नाभिक यानि nucleus पर neutrons की बम्बबारी करके उसे दो छोटे-छोटे नाभिक में विभाजित करना …

नाभिकीय विखण्डन क्या है?अभिक्रिया,उपयोग Read More »

रेडियोधर्मिता प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए

रेडियोधर्मिता किसे कहते है

रेडियोधर्मिता आवर्त सारणी में परमाणु क्रमांक 82 से ऊपर वाले तत्‍व रेडियोधर्मी तत्‍व कहलातेे हैं। रेडियोध‍र्मी तत्‍व अस्थिर होतेे है ,तथा अपने आप का अस्तित्‍व बनाये रखने के  लिये  लगातार अपने अन्‍दर से रेडियोधर्मि   किरणे अल्‍फा ,बीटा,  और गामा किरणाेें का उत्‍सर्जन करते रहते है। इन  किरणों को बेकुरल किरणे कहा जाता है तथा जो …

रेडियोधर्मिता प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए Read More »