Chemistry

विलयन किसे कहते है | परिभाषा और प्रकार | विलायक,विलेय

विलयन रसायन विज्ञान कक्षा 12वी का दुसरा पाठ है । इस पेज पर हम विलयन की परिभाषा, विलयन के गुण, विलायक , विलेय तथा विलयन कितने प्रकार के होते हैं आदि को समझेंगे जो परीक्षा कि दृस्टि से महत्वपुर्ण हैं । विलयन (Solution): विलयन क्या है ( what is solution) – दो या दो से …

विलयन किसे कहते है | परिभाषा और प्रकार | विलायक,विलेय Read More »

रासायनिक सूत्र लिस्ट । PDF Download करें

रासायनिक सूत्र की लिस्ट जो रसायन विज्ञान के अम्ल, गैस और अन्य रासायनिक पदार्थों और यौगिक की है ये सभी रासायनिक सूत्र और रासायनिक नाम प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते है इस पेज पर पहले रासायनिक अम्लों के सूत्र है उसके बाद रासायनिक यौगिक और पदार्थों के नाम और सूत्र है तथा अंत में उपयोगी …

रासायनिक सूत्र लिस्ट । PDF Download करें Read More »

क्लोराइड विलियन क्या होते है संपूर्ण जानकारी –

क्लोराइड विलियन – परिभाषा   ऐसा विषमांग तंत्र जिनमे कणों का आकार 1 नेनोमीटर (nm) से 1000 nm के मध्य होता है क्लोराइड विलयन कहलाता है। क्लोराइड विलयन में कणों का आकार बड़ा होता है इन्हें क्लोराइड कण कहा जाता है। उदाहरण वायुमंडल में उपस्थित धूल मिट्टी  के कण हवा  के साथ मिलकर क्लोराइड विलयन बनाते …

क्लोराइड विलियन क्या होते है संपूर्ण जानकारी – Read More »

संक्रमण तत्व क्या होते है इनके अभिलक्षण –

संक्रमण तत्व – आज की परिभाषा के तहत वे तत्व जिन में परमाण्वीय अवस्था में या उस तत्व की किसी सामान्य ऑक्सीकरण अवस्था में d-या F-उपकोश अंश के रूप से भरे जाएँ संक्रमण तत्व होते हैं। इन तत्वों का सामान्य इलैक्ट्रॉनीय विन्यास,  (n-2)f¹–¹⁴(n-1)s² (n-1)p⁶(n-1)d⁰–¹ ns² b, होता है ये वे तत्व हैं जिनका d उपकोश …

संक्रमण तत्व क्या होते है इनके अभिलक्षण – Read More »

उपसहसंयोजक यौगिक क्या है इनका उपयोग व उपसहयोजकता –

उपसहसंयोजक यौगिक – जिनमें कोई भी परमाणु या आयन इसको घेरे हुए अणुओं अथवा धनायनों के व्यूह से जुड़ा हो। लगभग से धातु-युक्त यौगिक उपसहसंयोजक यौगिक ही हैं। उपसहसंयोजक यौगिको का परिचय – धातुओं की सामान्य बंधुता को प्राथमिक बंधुता कहा जाता है। कुछेक धातुओं में प्राथमिक बंधुता के अलावा एक ओर भी बंधुता होती …

उपसहसंयोजक यौगिक क्या है इनका उपयोग व उपसहयोजकता – Read More »

हाइजेनबर्ग का अनिश्चितता का सिद्धांत संपूर्ण जानकारी –

सिद्धांत 1927 में जर्मन भौतिक विज्ञानी व नोबेल पुरस्कार विजेता वर्नर हाइजेनबर्ग के द्वारा तैयार किया गया अनिश्चितता सिद्धांत कहता है कि हम एक कण की स्थिति तथा गति जैसे फोटॉन अथवा  इलेक्ट्रॉन, दोनों को पूर्ण रूप  के साथ नहीं जान सकते हैं जितना ज्यादा हम कण की स्थिति को कम करते हैं, उतना ही …

हाइजेनबर्ग का अनिश्चितता का सिद्धांत संपूर्ण जानकारी – Read More »